Thursday, February 9, 2012

Budwig Protocol

स्टुटगर्ट रेडियो पर डॉ. बडविग का साक्षात्कार





एकबार स्टुटगर्ट के साउथ जर्मन रेडियो स्टेशन पर 9 नवम्बर, 1967 (सोमवार) को रात्रि के पौने नौ बजे प्रसारित साक्षात्कार में डॉ. बडविग ने सिर उठा  कर गर्व से कहा था और जिसे पूरी दुनिया ने सुना था कि यह अचरज की बात है  कि मेरे उपचार द्वारा कैंसर कितनी जल्दी ठीक होता है। 84 वर्ष की एक महिला को आँत का कैंसर था, जिसके कारण आंत में रुकावट आ गई थी और आपातकालीन शल्यक्रिया होनी थी। मैंने उसका उपचार किया जिससे कुछ ही दिनों में उसके कैंसर की गाँठ पूरी तरह खत्म हो गईऑपरेशन भी नहीं करना पड़ा और वह  स्वस्थ हो गई। इसका जिक्र मैंने मेरी पुस्तक द डैथ ऑफ ए ट्यूमर  की पृष्ठ संख्या 193-194 में किया है।  अस्पताल कैंसर के वे रोगी जिन्हें रेडियोथैरेपी और कीमोथैरेपी से कोई लाभ नहीं होता है और जिन्हें से यह कह कर छुट्टी दे दी जाती है कि अब उनका कोई इलाज संभव नहीं है,  भी मेरे उपचार से ठीक हो जाते हैं और इन रोगियों में भी मेरी सफलता की दर 90% है।

यह सेहत का वार्षिक अंक है। जिसमें आपके ज्ञान-वर्धन के लिए  मेरा लेख संपादक श्री प्रदीप जैन ने प्रकाशित किया है। मैं उनका आभारी हूँ । आप इस कड़ी चटकाइये।
http://flaxindia.blogspot.in/2011/12/budwig-cancer-treatment.html

No comments: