Friday, March 23, 2012

तेलों के बारे में अलसी गुरु का मेल

तेलों के बारे में कुछ स्वर्णिम नियम हैं। 

1-रिफाइन्ड तेल और हाइड्रोजिनेटेड तेल कभी भी प्रयोग नहीं करें। 
2-भोजन बनाने में तलने की प्रक्रिया बंद करें। तलने के लिए सबसे अच्छा तेल पानी है। फिर भी दिल न माने तो तलने के लिए सेचुरेटेड तेल जैसे नारियल का एक्स्ट्रा वर्जिन तेल, घी या ऑलिव का एक्स्ट्रा वर्जिन तेल या तिल का अनरिफाइन्ड तेल प्रयोग करें। 
3-बाजार में मिलने वाले अधिकतर तेल रिफाइन्ड, पार्शियली हाइड्रोजिनेटेड और ट्रांसफेट से भरपूर होते हैं। 
4-तलने से बेक करना अच्छी प्रक्रिया है। 
5-अलसी का कोल्ड-प्रेस्ड तेल अतिउत्तम है पर गर्म नहीं किया जाना चाहिये। इसे फ्रीज में रखें और कच्चा (दही या सलाद पर डाल कर) लेना चाहिये।
6-कॉलेस्ट्रोल और सेचुरेटेड फैट हमारे दुष्मन नहीं है। इसके सम्बन्ध में किया जाने वाला भ्रामक दुष्प्रचार खराब, सस्ते और रिफाइण्ड तेलों को बेचने का मार्केटिंग टूल है। 
7-स्वस्थ रहने के लिए हमारे तेलों में ओमेगा-3 और ओमेगा-6 का अनुपात सन्तुलित (1:2) रहना चाहिये। 
8-टीवी में दिखाये जाने वाले एड हमें शुद्ध रूप से बेवकूफ बनाते हैं। 
9-बाजार में बिकने वाले सभी खुले या पेकेटबन्द खाद्य पदार्थ या फास्टफूड ट्रांसफेट से भरपूर रिफाइन्ड तेल और हाइड्रोजिनेटेड तेल से बनते हैं। 
10-ट्रांसफेट से भरपूर रिफाइन्ड तेल और हाइड्रोजिनेटेड तेल हमें कई बीमारियों जैसे हार्ट, डाबिटीज, आर्थ्राइटिस, मोटापा, डिप्रेशन आदि का शिकार बनाते हैं। 





1 टिप्पणियाँ:

  1. फैट गुरू की साइट जरूर देखें।

    http://udoerasmus.com/articles/udo/fthftk.htm

    डॉ. ओम
    प्रत्‍युत्तर दें

No comments: