Friday, May 18, 2012

गर्मी में ठंडक का अहसास

  
रजत हिम

सामग्रीः – 
1. पनीर घर पर बना 100 ग्राम      2. कोडप्रेस्ड अलसी का तेल 45 एम.एल.      3. उबाल कर ठंडा किया हुआ दूध 50 एम.एल.      4. प्राकृतिक शहद स्वादानुसार    5. बारीक कटी बादाम 25 ग्राम    6. पिसी इलायची चौथाई छोटी चम्मच  7. नीबू का रस एक चम्मच  

रजत हिम बनाने की विधिः– 

सबसे पहले पनीर बनाइये। इसके लिए स्टील की पतीली में दूध गर्म की कीजिये। उबाल आने पर उसमें नीबू का रस डालिये। नीबू डालते ही दूध फट जायेगा। अब फटे दूध को एक चलनी में डाल दें, ताकि उसका पानी निकल जाये। 8-10 मिनट बाद पनीर और दूध को एक बर्तन लेकर बिजली से चलने वाले हैन्ड ब्लेंडर से अच्छी तरह फैंट लें। इसके बाद पनीर और दूध के मिश्रण में अलसी का तेल, शहद और इलायची मिला कर एक बार फिर अच्छी तरह फैंट लें और मिश्रण में कटी बादाम मिला कर फ्रीजर में जमने के लिए रख दें। 
अगले दिन स्वास्थ्यवर्धक, ऊर्जावान, स्वादिष्ट और इलेक्ट्रोन्स से भरपूर रजत हिम जम कर तैयार हो जायेगा। अपने परिवार के साथ इस रजत हिम का आनंद लीजिये।   ध्यान रहे कि पनीर को चलनी में 8-10 मिनट से ज्यादा नहीं रखें वर्ना पनीर दानेदार हो जाता है। कैंसर के रोगी हमेशा प्राकृतिक शहद ही प्रयोग करें। अन्य लोग डिब्बाबंद शहद भी प्रयोग कर सकते हैं। इस उत्कृष्ट रजत हिम के लिए अलसी का तेल जयपुर की हैल्थ फर्स्ट कम्पनी का ही प्रयोग करें। 
कंचन हिम

सामग्रीः 

1. पनीर घर पर बना 100 ग्राम      2. कोडप्रेस्ड अलसी का तेल 60 एम.एल.      3. उबाल कर ठंडा किया हुआ दूध 100 एम.एल.      4. प्राकृतिक शहद स्वादानुसार    5. बारीक कटे मेवे 25 ग्राम    6. मध्यम आकार का एक आम (लगभग 350-400 ग्राम)  7. नीबू का रस एक चम्मच  

कंचन हिम बनाने की विधिः– 


सबसे पहले पनीर बनाइये। इसके लिए स्टील की पतीली में दूध गर्म की कीजिये। उबाल आने पर उसमें नीबू का रस डालिये। नीबू डालते ही दूध फट जायेगा। अब फटे दूध को एक चलनी में डाल दें, ताकि उसका पानी निकल जाये। सिर्फ 8-10 मिनट बाद ही पनीर और दूध को एक बर्तन में लेकर बिजली से चलने वाले हैन्ड ब्लेंडर से अच्छी तरह फैंट लें। अब आम को छील कर छोटे-छोटे टुकड़े कर लीजिये। इसके बाद पनीर और दूध के मिश्रण में आम के टुकड़े, अलसी का तेल और शहद मिला कर एक बार फिर अच्छी तरह फैंट लें और मिश्रण में कटे मेवे मिला कर फ्रीजर में जमने के लिए रख दें। 
अगले दिन स्वास्थ्यवर्धक, ऊर्जावान, स्वादिष्ट और इलेक्ट्रोन्स से भरपूर कंचन हिम जम कर तैयार हो जायेगा। अपने परिवार के साथ इस कंचन हिम पर थोड़ा सा शहद डाल कर आनंद लीजिये। ध्यान रहे कि पनीर को चलनी में 8-10 मिनट से ज्यादा नहीं रखें वर्ना पनीर दानेदार हो जाता है। कैंसर के रोगी हमेशा प्राकृतिक शहद ही प्रयोग करें। अन्य लोग डिब्बाबंद शहद भी प्रयोग कर सकते हैं। इस उत्कृष्ट रजत हिम के लिए अलसी का तेल जयपुर की हैल्थ फर्स्ट कम्पनी का ही प्रयोग करें। वनीला पावडर भी प्राकृतिक होना चाहिये। 


अलसी के कोल्डप्रेस्ड तेल के लिए इस नंबर 9929744434 पर बात करें या इस लिंक पर चटका करें। http://flaxindia.in/



2 comments:

Dr. O.P.Verma said...

9929744434

Dr. O.P.Verma said...

श्री विजय सेठ से अलसी का तेल खरीदने के लिए इस नंबर पर बात करे।